एक इंसान की सुंदरता और उसके व्यक्तित्व को बढ़ाने के लिए बालों का विशेष योगदान होता है। हम यह नहीं कह रहे हैं कि आपके बालों की स्टाइल ही आपको सुंदर बनाती है, लेकिन बाल निश्चित रूप से ही आपकी प्राकृतिक सुंदरता के साथ-साथ आपके आत्मविश्वास को भी बढ़ाते हैं। बालों की अच्छी स्टाइल आपको साधारण पोशाक के साथ भी एक ग्लैमरस लुक दे सकती है।

बालों को स्वस्थ रखने के लिए नुट्रिशन्स से भरपूर आहार का सेवन बहुत ही जरूरी है। अपर्याप्त या अनुचित आहार बाल गिरने के सबसे बड़े कारणों में से एक है।  विटामिन ए, बी 12, बी 6, विटामिन सी, फोलिक एसिड, बायोटिन, कॉपर, आयरन, प्रोटीन और जिंक आदि जैसे पोषक तत्वों की कमी भी बालों के गिरने का कारण बन सकती है। विटामिन ए की कमी और विटामिन ए का अधिक मात्रा में सेवन भी बालों के झड़ने का कारण हो सकता है।  इसलिए बालों को स्वस्थ रखने और बालों को झड़ने से रोकने के लिए उचित और संतुलित आहार का सेवन बहुत जरूरी है। बालों के झड़ने के अन्य कारण भी हो सकते हैं, आइए जानते है कि बाल झड़ने के अन्य कारण कौन-कौन से है:

बालों के झड़ने के कारण

यह सच है कि महिलाओं की तुलना में पुरुषों में बाल झड़ने की संभावना अधिक होती हैं। लेकिन महिलाओं में भी बालों का झड़ना और बालों का पतला होना एक सामान्य समस्या है। यह समस्या शरीर में विटामिन्स की कमी या शरीर में किसी अन्य गंभीर बीमारी की वजह से भी हो सकती है। बाल झड़ने के अन्य कारण निम्नलिखित हैं:

#1 अपर्याप्त आहार 
बालों का स्वास्थ्य व्यक्ति के खाने पर बहुत निर्भर करता है। ज्यादातर मामलों में, बालों के गिरने का कारण अनुचित आहार ही होता है। प्रोटीन, विटामिन्स, आवश्यक फैटी एसिड, और पोषण से रहित, अपर्याप्त आहार बालों के झड़ने की समस्याओं का कारण बन सकता है। इसलिए बालों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए पुरुषों और महिलाओं दोनों को ही स्वस्थ आहार का सेवन बहुत आवश्यक है।
बालों को स्वस्थ बनाये रखने के लिए स्वस्थ एवं नुट्रिशन से भरपूर आहार का सेवन करें। विशेषज्ञों के मुताबिक, अच्छी मात्रा में ड्राई फ्रूट्स, अनाज, सब्जियां और फल युक्त आहार का सेवन, बालों के विकास के लिए आवश्यक सभी महत्वपूर्ण पोषक तत्वों की पर्याप्त मात्रा प्रदान कर सकता है। इसके अलावा, दूध, शहद, वनस्पति तेल, खमीर, यकृत आदि जैसे खाद्य पदार्थ भी बालों के विकास के लिए अच्छे साबित होते हैं।

#2 एनीमिया 
रक्त में आयरन की कमी से हुआ एनीमिया भी बाल झड़ने के मुख्य कारणों में से एक कारण हैं। अगर आपको लगता है कि आपके बालों के झड़ने का कारण आयरन की कमी से संबंधित है, तो अपने आयरन के स्तर को मापने के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श लें। आपका डॉक्टर फेरिटिन रक्त स्तर परीक्षण (ferritin level blood test) का आदेश देगा, जो प्रोटीन के स्तर को मापता है जिसे फेरिटिन कहा जाता है जो आयरन को स्टोर करने में मदद करता है।
बालों के झड़ने के अलावा, एनीमिया के अन्य लक्षणों में थकान रहना, सिरदर्द, चक्कर आना, त्वचा का पीला पड़ना, और ठंडे हाथ और पैर आदि लक्षण शामिल हैं।
आयरन सप्लीमेंट की मदद से इस समस्या को सही किया जा सकता हैं। आयरन सप्लीमेंट लेने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

#3 प्रोटीन की कमी
अमेरिकन अकादमी ऑफ डार्मेटोलॉजी के अनुसार, अगर आप अपने आहार में पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन का सेवन नहीं करते है तो आपका शरीर बालों के विकास के लिए जरुरी प्रोटीन की सप्लाई बंद कर देता है और उसे शरीर में ज्यादा महत्वपूर्ण कार्यों के लिए उपयोग करता है। यदि आपके शरीर में प्रोटीन की कमी एक लंबी अवधि तक रहती है तो आपके बाल शुष्कता और भंगुरता के साथ धीरे-धीरे समाप्त हो जाते हैं।
आपको अपने आहार में प्रोटीन से भरपूर आहार शामिल करने चाहिए। समुद्री भोजन, दूध , पनीर, दही, अंडे, और सोया आदि प्रोटीन के अच्छे स्रोत हैं।

#4 मानिसक चिंता व तनाव 
मानिसक चिंता व तनाव भी बालों के झड़ने के मुख्य कारणों में से एक है। जो व्यक्ति ज्यादा मानिसक चिंता व तनाव से ग्रसित रहते हैं उनमें बालों के झड़ने की संभावना भी अधिक होती है। तनाव के  शारीरिक लक्षण - सिरदर्द रहना, अनिद्रा, बेचैनी, चिंताग्रस्त या थका हुआ महसूस करना, और ध्यान लगाने में परेशानी होना आदि लक्षण शारीरिक तनाव के हो सकते हैं।

#5 एनाबोलिक स्टेरॉइड्स
मांसपेशियों की वृद्धि के लिए अनाबोलिक स्टेरॉयड का उपयोग अक्सर अवैध रूप से  किया जाता है। कुछ एथलीट और बॉडीबिल्डर अपनी शारीरिक मांसपेशियों की वृद्धि के लिए इन दवाओं का दुरुपयोग करते हैं। जो बाल झड़ने की समस्या को बढ़ावा देने के साथ-साथ अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याएं भी पैदा कर सकती है।

#6 बालों को खींच कर बांधना 
अगर आप अपने बालों को अच्छी स्टाइल देने के लिए ज्यादा खींच कर बांधते है तो इससे बालों की जड़े कमजोर हो जाती है और धीरे-धीरे बाल गिरना शुरू हो जाते है। इस समस्या को ट्रैक्शन एलोपेसिया के नाम से भी जाना जाता है।
यदि आप अपने बालों को खींचना बंद कर देते हैं तो ट्रैक्शन एलोपेसिया को रोका जा सकता है।

#7 उम्र का बढ़ना
उम्र बढ़ने के साथ-साथ बाल पतले होकर धीरे-धीरे गिरने लगते है जो एक प्राकृतिक अवस्था है। यद्यपि उम्र बढ़ने के साथ बालों के झड़ने की मात्रा जेनेटिक्स पर निर्भर करती है। आम तौर पर जब बाल गिरते है तो उनकी जगह पर नए बाल आ जाते है लेकिन जैसे-जैसे उम्र बढ़ती जाती है तो यह प्रक्रिया भी कम हो जाती है। आम तौर पर, पुरुष-पैटर्न गंजापन और फीमेल-पैटर्न गंजापन आयु से संबंधित बालों के झड़ने का परिणाम होता है।

#8 केमिकल्स का ज्यादा उपयोग 
शैम्पू, रंग इत्यादि के रूप में हानिकारक रसायनों का उपयोग बाल गिरने का कारण बन सकता है। ये रसायन बालों को नुकसान पहुंचाने के साथ-साथ उनके विकास को भी रोकते है। इसलिए हानिकारक रसायनों, और  बालों पर रंगों के उपयोग से बचना चाहिए।

#9 कीमोथेरपी
दुर्भाग्य से कैंसर के इलाज में प्रयोग की जाने वाली कुछ दवाएं आपके बालों के गिरने का भी कारण बन सकती हैं। कीमोथेरेपी की दवाएं बहुत शक्तिशाली दवाएं होती हैं जो तेजी से बढ़ती कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करती हैं। दुर्भाग्यवश, ये दवाएं आपके शरीर में अन्य तेजी से बढ़ती कोशिकाओं पर भी हमला करती हैं - जिनमें आपके बालों की जड़ें भी शामिल हैं। कीमोथेरेपी से सिर के बालों के साथ-साथ आपके पुरे शरीर के भी बाल गिर सकते हैं।

#10 गर्भावस्था
गर्भावस्था के दौरान बालों का झड़ना एक सामान्य प्रक्रिया है जो प्रसव के बाद 3-4 महीनों के भीतर सामान्य हो जाती है। अगर आपको लगता है कि गर्भवती होने के बाद आपके बाल असामान्य रूप से झड़ रहें हैं तो यह विटामिन्स या खनिज की कमी के कारण भी हो सकता है।

#11 संक्रमण
फंगल इन्फेक्शन, हेयर फॉलिकल्स की सूजन, और सेकेंडरी सिफलिस भी बालों के झड़ने का कारण बन सकते हैं।

#12 हाइपरथायरायडिज्म (Hyperthyroidism)
हाइपरथायरायडिज्म एक ऐसी स्थिति है जिसमें थायराइड ग्रंथि, थायराइड हार्मोन का उत्पादन अत्यधिक मात्रा में करती है। बिना इलाज किये लंबे समय तक इस स्थिति का बने रहना,  बालों के झड़ने का कारण बन सकता है।

#13 हाइपोथायरायडिज्म (Hypothyroidism)
बिना इलाज के लंबे समय तक हाइपोथायरायडिज्म का बने रहना, बालों के झड़ने का कारण बन सकता है। हाइपोथायरायडिज्म एक मेडिकल शब्द है। यह एक ऐसी स्थिति है जिसमें थायराइड ग्रंथि, थायराइड हार्मोन का उत्पादन पर्याप्त मात्रा में नहीं करती है। आपकी थायराइड ग्रंथि के कार्य को जाँचने के लिए आपका डॉक्टर थाइरोइड फंक्शन टेस्ट (Thyroid Function Test) का भी आदेश दे सकता है।

#14 ऑटोइम्म्यून से संबंधित
इसे अल्पेसिया अरेटा के नाम से भी जाना जाता है और यह मूल रूप से एक अति सक्रिय प्रतिरक्षा प्रणाली का परिणाम होता है। ऑटोम्यून्यून रोग एक ऐसी बीमारी जिसमें शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली, शरीर की स्वस्थ कोशिकाओं पर ही हमला कर देती है।

#15 विटामिन ए का बहुत अधिक मात्रा में सेवन 
विटामिन ए युक्त खुराक या दवाएं बालों के झड़ने की समस्या को बढ़ा सकती हैं। इसलिए विटामिन ए की ओवरडोज़ से बचना चाहिए। विटामिन ए से युक्त दवाएं लेने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

#16 विटामिन्स की कमी
 विटामिन और खनिज शरीर के स्वास्थ्य के साथ-साथ बालों के स्वास्थ्य के लिए भी बहुत  महत्वपूर्ण हैं। आयरन, विटामिन डी, बी-काम्प्लेक्स विटामिन्स, सेलेनियम और जिंक आदि बालों के विकास में एक बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। विटामिन्स बालों को स्वस्थ रखने और नए बालों की कोशिकाओं के उत्पादन को बढ़ाने के लिए बहुत जरुरी होते है।

#17 प्रदूषण
ज्यादा प्रदूषण वाले क्षेत्रों में रहना आपके स्वास्थ्य के साथ-साथ आपके बालों के लिए भी नुकसानदायक है। लगातार प्रदूषण के संपर्क में रहने से बालों की जड़े कमजोर हो जाती हैं व उनकी गुणवत्ता भी बिगड़ जाती है और वे गिरना शुरू हो जाते हैं।

#18 हार्मोनल असंतुलन
हार्मोनल असंतुलन भी एक बाल झड़ने का कारण हो सकता है। आमतौर पर, गर्भावस्था के दौरान, महिलाएं हार्मोनल में बदलाव के दौर से गुजरती हैं, जो एक विशेष अवधि के लिए बालों के झड़ने को ट्रिगर करती हैं। इस प्रकार के बालों का झड़ना आमतौर पर प्रसव के बाद कम हो जाता हैं। अन्य मामलों में, जहां हार्मोनल असंतुलन अधिक गंभीर भी हो सकता है, जिससे व्यक्ति गंजा भी हो सकता है।

#19 कुछ दवाएं
कुछ दवाएं भी अस्थायी व स्थायी तौर पर बालों के झड़ने का कारण भी बन सकती है जैसे रक्त पतला करने की दवा, गठिया बीमारी की दवाएं, बीटा ब्लॉकर दवाएं, एंजियोटेंसिन-कनवर्टिंग एंजाइम इन्हिबिटर्स, विटामिन ए (जब ज्यादा खुराक में लिया जाता है), फीमेल हार्मोन दवाएं, मेल हार्मोन दवाएं, एंटीडिप्रेसन्ट दवाएं और गर्भनिरोधक गोलियाँ आदि।
यह पता लगाने के लिए कि क्या कोई दवा आपके बालों के गिरने का कारण बन सकती है, इसके लिए अपने डॉक्टर से बात करें। यदि ऐसा है, तो आपका डॉक्टर एक अलग दवा या  एक ऐसे उपचार की सलाह दे सकता है जो आपके बालों के झड़ने को कम करने में मदद करेगा।

#20 पुरुष पैटर्न गंजापन
हर तीन पुरुषों में से दो पुरुष, 60 साल तक की उम्र में बालों के झड़ने का अनुभव करते है, और यह ज्यादातर पुरुष पैटर्न गंजापन के कारण होता है।

#21 खारे पानी (Hard Water) का उपयोग
शहरी क्षेत्रों में रहने वाले लोग, पानी की खराब गुणवत्ता के कारण अधिक बाल झड़ने की समस्या से सामना करते हैं। खारे पानी में मैंगनीज, तांबा, कैल्शियम और आयरन जैसे खनिज अधिक मात्रा में पाए जाते हैं। ये खनिज बालों के लिए हानिकारक होते हैं और बालों के झड़ने को ट्रिगर करते हैं क्योंकि वे उन्हें कमजोर, रूखे और शुष्क बनाते हैं।

खारे पानी के बालों पर होने वाले प्रभाव

  • बाल का झड़ना
  • बालों का टूटना 
  • बालों का पतला होना
  • बालों का सफ़ेद होना
  • डैंड्रफ 
  • बालों का रुखा, सुस्त और बेजान होना 

यदि आप खारे पानी का उपयोग करना बंद कर देते हैं और अपने बालों की अच्छी तरह से देखभाल करते हैं, तो आपके बालों का झड़ना बंद हो सकता है।

hair loss and hard water

#22 अन्य कारण
बालों के झड़ने के कुछ अन्य कारण चोट, सर्जरी, ट्यूमर, सिर की त्वचा में इन्फेक्शन, अनुचित बालों की देखभाल आदि कारण हो सकते हैं।

बालों को झड़ने से रोकने के लिए उपलब्ध उपचार

दवाएँ

मिनॉक्सिडिल (Minoxidil)
बालों के झड़ने को कम करने के लिए उपयोग की जाने वाली मिनोक्सिडिल एक लोकप्रिय दवा है। इस दवा का प्रयोग पुरुष और महिलाएं, दोनों ही कर सकते है। इसका उपयोग नये बालों के विकास को बढावा देने के लिए किया जाता है। यह दवा सिर पर लगानी होती है जो तरल या फोम के रूप में आती है। बालों के झड़ने और नये बालों की उपज के लिए इस दवा को कम से कम छह महीने तक लगाना पड़ता है।

मिनोक्सिडिल बालों के झड़ने के लिए एक अस्थायी इलाज है। एक बार जब रोगी इस दवा को लगाना बंद कर देता है, तो यह दवा रोकने के 90 दिनों के भीतर सभी पुनर्जन्म वाले बालों को खो देता है और आगे बालों का विकास रुक जाता है। मिनॉक्सिडिल हर किसी के लिए प्रभावी रूप से काम नहीं करता है और इसका पहले ही, यह पता भी नहीं लगाया जा सकता कि यह किसी विशेष व्यक्ति में प्रभावी होगी या नहीं।

सर्जिकल उपचार

बाल प्रत्यारोपण (Hair Transplantation)
बाल प्रत्यारोपण एक सर्जिकल प्रक्रिया है जिसमें शरीर के एक हिस्से से बालों के फॉलिकल्स या ग्राफ्ट्स को हटा कर शरीर के उस भाग पर लगाये जाते है जहां बाल कम होते हैं या होते ही नहीं हैं। बाल प्रत्यारोपण के बाद परिणाम देखने में 3 से 6 महीनें का समय लग सकता है। इस प्रक्रिया के परिणाम लगभग अच्छे ही होते हैं। बाल प्रत्यारोपण की सफलता दर 95 प्रतिशत से ऊपर है। इससे यह पता चलता है कि आपके बाल प्रत्यारोपण के सफल होने की संभावना भी अधिक है।

वैकल्पिक दवाएँ/ उपचार

बायोटिन (Biotin)
बायोटिन को विटामिन H और विटामिन बी 7 के नाम से भी जाना भी जाता है। बायोटिन का अक्सर बालों के झड़ने को रोकने और नाखूनों की ताकत को सुधारने के लिए भी सेवन किया जाता है लेकिन ये दावे वैज्ञानिक तौर पर अप्रमाणित हैं।

डर्मारोलर (Derma Roller)
डर्मारोलर एक ऐसा डिवाइस है जिसके ऊपर बहुत सारी छोटी-छोटी सुईयां लगी होती हैं जिनका आकार 0.20 mm से लेकर 3 mm तक हो सकता है। ये सुईयां एक पहिये पर लगी होती है जिनको आसानी से त्वचा पर घुमाया जा सकता है। इसका उपयोग नये बालों के पुनर्जन्म को बढ़ावा देने के साथ-साथ मुँहासों के निशान, झुर्रियों को कम करने के लिए और स्ट्रेच मार्क्स आदि के लिए भी उपयोग किया जाता है।

डर्मारोलर को त्वचा पर घुमाने से पहले और घुमाने के बाद में, त्वचा पर लगाए गए किसी भी उत्पाद के अवशोषण को 3000% तक बढ़ा सकता है। मिनॉक्सिडिल दवा को लगाने से पहले और लगाने के बाद में डर्मारोलर का उपयोग करके बड़े पैमाने पर मिनॉक्सिडिल के अवशोषण दर को बढ़ावा दिया जा सकता है, जिससे बालों के झड़ने के इलाज को ओर अधिक प्रभावी बनाया जा सकता है।
डर्मारोलर

लेज़र थेरेपी (Laser Therapy)
बालों के झड़ने के लिए निम्न स्तर के लेजर उपचार को अब एक सुरक्षित अल्टरनेटिव उपचार के रूप में भी बढ़ावा दिया जाता है। कुछ अध्ययनों से पता चला है कि लेज़र थेरेपी उपचार ने बालों के विकास को बढ़ावा दिया है। यह उपचार हर किसी के लिए फायदेमंद नहीं है, और बहुत कम बालों वाले लोगों पर इसकी काम करने की संभावना बहुत कम ही होती है।

बालों को झड़ने से रोकने के लिए कुछ उपाय

  1. बालों को साफ रखें। यह डैंड्रफ़, खुजली और बालों की जूँ को भी होने से रोकगा।
  2. बालों को सुखाने के लिए हेयर ड्रायर के उपयोग को कम करें।
  3. बालों पर रंग या किसी अन्य तरह के केमिकल को न लगाएं
  4. बालों को ज्यादा खींच कर न बांधे।
  5. अपने बालों के लिए ऐसे शैम्पू का चयन करें जो आपके बालों के लिए उपयुक्त हो।
  6. एक पौष्टिक तेल (जैसे नारियल, रोजमेरी, लैवेंडर, या बादाम के तेल) के साथ अपने सिर की मालिश करें जो आपके बालों की जड़ों में  रक्त प्रवाह में वृद्धि करेगा।
  7. एक स्वस्थ संतुलित आहार ही खाए। कुछ विटामिन्स और खनिज जैसे आयरन, प्रोटीन, विटामिन सी, बायोटिन, और ओमेगा 3 फैटी एसिड आदि आपके बालों स्वस्थ रखने और बालों को झड़ने से रोकने के लिए विशेष रूप से सहायक हो सकते हैं।
  8. सूरज की तेज रोशनी और धूल से बालों को बचाए। बाहर जाते समय सूर्य की तेज रोशनी और धूल से बालों को बचाने के लिए अपने बालों को ढक कर रखें।
  9. अपने दैनिक आहार में कम से कम 2 अलग-अलग ड्राई फ्रुटस शामिल करें।
  10. आयरन से भरपूर आहार खाएं जैसे सेब, चुकंदर और गुड़ इत्यादि।
  11. अपने आहार में फल और सब्जियां शामिल करें। आप फल और सब्जियों को सलाद के तौर पर भी ले सकते है।
  12. ज्यादा मीठे, शर्करा वाले खाद्य पदार्थों और पेय पदार्थों से बचें।
  13. आयरन के साथ विटामिन सी का सेवन आयरन के अवशोषण को बढ़ावा देता है जो एक प्रभावशाली फायेदमंद होता है।
  14. धूम्रपान न करें।
Written By - Dr. Lokesh Amaan
Published on - 19/Nov/2018.
Last Updated - 05/Jan/2019.

Article References:
1. Hair loss. Mayo Clinic. https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/hair-loss/symptoms-causes/syc-20372926 Accessed on Nov. 19, 2018.
2. Hair loss. NHS. https://www.nhs.uk/conditions/hair-loss/ Accessed on Nov. 19, 2018.
3. Microneedling. NCBI. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4458936/ Accessed on Nov. 19, 2018.
4. Derma roller. Dermarollerstore.co.uk. https://www.dermarollerstore.co.uk/derma-roller-for-hair-loss/ Accessed on Nov. 19, 2018.